गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद जनपद में पहले चरण में 10 फरवरी को मतदान होगा। गौतमबुद्ध नगर में तीन और गाजियाबाद में पांच सीट पर चुनाव के लिए प्रशासन ने तैयारियां कर ली हैं। गौतमबुद्ध नगर जनपद में तीनों विधानसभा क्षेत्रों के 16,23,545 मतदाता प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार 82,939 मतदाता बढ़े हैं। इस बार 100 वर्ष की उम्र के ऊपर के 324 मतदाता हैं। इसके अलावा 80 से 89 वर्ष तक की उम्र के करीब 19,592 मतदाता हैं।

वहीं, गाजियाबाद की पांच विधानसभा लोनी, मुरादनगर, साहिबाबाद, गाजियाबाद और मोदीनगर में कुल 27.77 लाख मतदान करेंगे। पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार 2,80,027 मतदाता बढ़े हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि 15 जनवरी तक जनपद में धारा 144 बढ़ा दी है। पांचों विधानसभा और आंशिक धौलाना विधानसभा के लिए 3,353 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं। आचार संहिता का पालन कराने के लिए 30 टीम बनाई हैं।

आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू

चुनावों की घोषणा के साथ ही चुनाव अधिसूचना तत्काल प्रभाव से जारी कर दी गई और इसी के साथ आदर्श चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गई है। चुनाव के दौरान कोविड गाइडलाइन सख्ती से लागू की जाएगी। कोविड के खतरे को ध्यान में रखते हुए इस बार रैलियों पर रोक लगाई गई है। केवल वर्चुअल रैलियों की इजाजत दी गई है। इस बार महिला मतदाताओं की तादाद बढ़ी है। 

यूपी में 7 चरणों में होगा मतदान

निर्वाचन आयोग शनिवार दोपहर उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर दी है। इस बार यहां सात चरणों में मतदान होगा और 10 मार्च को मतगणना होगी। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में विधानसभा की 403 सीटें हैं। वर्ष 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भाजपा को शानदार सफलता मिली थी। उत्तर प्रदेश में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 14 मई 2022 को समाप्त हो जाएगा। 

– उत्तर प्रदेश में इस बार कुल सात चरणों में विधासभा चुनाव कराए जाएंगे। यूपी में पहले चरण का चुनाव 10 फरवरी को होगा। पहले चरण के मतदान के लिए 14 जनवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी होगा और 21 जनवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 24 जनवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 27 जनवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

– यूपी में दूसरे चरण का चुनाव 14 फरवरी को होगा। दूसरे चरण के मतदान के लिए 21 जनवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी होगा और 28 जनवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 29 जनवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 31 जनवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। 

 – यूपी में तीसरे चरण का चुनाव 20 फरवरी को होगा। तीसरे चरण के मतदान के लिए 25 जनवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी होगा और 01 फरवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 02 फरवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 04 फरवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

– यूपी में चौथे चरण का चुनाव 23 फरवरी को होगा। चौथे चरण के मतदान के लिए 27 जनवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी होगा और 03 फरवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 04 फरवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 07 फरवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। 

– यूपी में पांचवें चरण का चुनाव 27 फरवरी को होगा। पांचवें चरण के मतदान के लिए 01 फरवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी होगा और 08 फरवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 09 फरवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 11 फरवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

– यूपी में छठे चरण का चुनाव 03 मार्च को होगा। छठे चरण के मतदान के लिए 04 फरवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी होगा और 11 फरवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 14 फरवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 16 फरवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। 

– यूपी में सातवें चरण का चुनाव 07 मार्च को होगा। सातवें चरण के मतदान के लिए 10 फरवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी होगा और 17 फरवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 18 फरवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 21 फरवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

गौरतलब है कि 2012 से 2017 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को 2017 के विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश विधानसभा की 403 सीटों में सिर्फ 47 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि भारतीय जनता पार्टी ने अकेले 312 और उसके सहयोगियों ने 13 सीटें जीती थीं। वहीं, BSP को 19, कांग्रेस को 07 सीट और अन्य को 5 सीटें मिली थीं। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में भी भाजपा को भारी जीत मिली थी।