गोरखपुर के चौरीचौरा क्षेत्र के भोपा बाजार चौराहे से बुधवार की सुबह 10 बजे लापता हुआ 17 वर्षीय सुजीत यादव अपनी प्रेमिका से मिलने आजमगढ़ गया था। घरवाले कोई सवाल न करें इसके लिए उसने गुरुवार को अपने अपहरण की झूठी कहानी बता दी। हालांकि पुलिस की पूछताछ में उसने प्रेमिका से मिलने की बात कबूल कर ली है। उधर, बेटे के अपहरण होने की सूचना मिलते ही उसकी मां किरन देवी ने चौरीचौरा पुलिस को तहरीर देकर अपहरण का केस दर्ज कराया था। चौरीचौरा पुलिस ने गुरुवार की शाम को सुजीत को मोहद्दीपुर से पकड़ लिया

झंगहा थानाक्षेत्र ग्राम सौलाभारी निवासी सुजीत यादव पुत्र श्याम नारायण यादव भोपा बाजार में सड़क के किनारे सिमकार्ड बेचने और पोर्ट करने का कार्य करता है। बुधवार की सुबह उसने घरवालों को बताया कि वह भोपा बाजार चौराहे पर सिम बेचने व पोर्ट के लिए जा रहा है। सुजीत ने अपने दोस्त चंदन से झूठ बोला कि कोई पेट्रोल पंप पर बुलाया है, सिम पोर्ट करने जा रहा हूं। जब वह वापस नहीं आया तो उसके दोस्त ने उसके घरवालों को सूचना दी। सुजीत ने पुलिस को बताया कि करीब दो माह पूर्व आजमगढ़ की एक लड़की से उसकी इंस्टाग्राम पर दोस्ती हो गई। उसी से मिलने गया था और घर के लोगों से अपहरण की बात कह दी थी।

उसने बताया कि बुधवार की रात में प्रेमिका के एक संबंधित के घर पर था। गुरुवार को वहां से मोहद्दीपुर आया और एक छोला-भटूरा के दुकानदार के फोन से घर पर फोनकर बताया कि उसका अपहरण कर लिया गया। प्रभारी निरीक्षक चौरीचौरा उमेश कुमार बाजपेई ने बताया कि सब इंस्पेक्टर आलोक सिंह ने फोन के जरिए सुजीत को मोहद्दीपुर से पकड़ कर चौरीचौरा लेकर आए। इसकी सूचना उसके परिजनों को दी गई, पुलिस ने किशोर का बयान दर्ज किया।